ऐसे 10 गाने जो उल्लास मनाते हैं, किशोर कुमार के, जीवन के प्रति प्रेम को

4 अगस्त को उनकी 91वीं जयंती मनाने के लिए नरेंद्र कुश्णूर ने किशोर कुमार के ऐसे 10 गाने चुनें हैं, जिसमें ‘जिन्दगी’ और ‘जीवन’ शब्दों का प्रयोग है।  आनंद लें

अगर आप किशोर कुमार के गाने की सूची देखें तो आपको पता चलता है कि उनके कई हिट गीतों के शुरुआती पन्क्तियों में इन शब्दों (जीवन या जिंदगी) का प्रयोग हुआ है। ये शब्द विभिन्न परिस्थितियों के अनुसार उपयोग किए जाते थे, गाना रोमांटिक हो या दुःख भरा  हो या उदासीनता वाला हो।

4 अगस्त को उनकी 91वीं जयंती मनाने के लिए, हमने इन (जिंदगी और जीवन) शब्दों के साथ 10 गाने चुनें हैं।   इनमें से कुछ गाने राजेश खन्ना पर फिल्माए गए और किशोर कुमार पूर्णरूप से सुपर स्टार राजेश खन्ना की आवाज बन गए। सूची कालानुक्रमिक है

1.जीवन के सफर में राही- मुनीमजी (1955)

50 के दशक में सचिन देव बर्मन ने किशोर कुमार के कुछ अच्छे गानों के लिए संगीत दिया, जिसे देव आनंद पर फिल्माया गया। साहिर लुधियानवी के लिखे बोल ‘जीवन के सफ़र में राही, मिलते हैं बिछड़ जाने को’, में किशोर कुमार की अनोखी शैली दिखती है। गाने के दृश्य में नलिनी जयवंत  कार में नजर आती है।

2.जिंदगी का सफ़र- सफ़र (1970)

किशोर कुमार द्वारा गाया गया यह भावनाविभूत दुःख भरा गाना है,  जो जीवन के अप्रत्याशित रूप को बतलाता हैजिसे सुपर स्टार राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर पर फिल्माया गया। गाने में संगीत कल्याणजीआनंदजी का था और  इंदीवर की  लिखी पंक्तियाँ कुछ इस तरह हैं, ‘जिंदगी का सफ़र, है ये कैसा सफर, कोई समझा नहीं, कोई जाना नहीं’।

 

3.जीवन से भरी तेरी आंखें- सफ़र (1970)

यह प्रेम गीत फिल्मसफ़र’ का है।  इंदीवर के लिखे इस गाने की पंक्तियाँ कुछ इस तरह हैं, ‘जीवन से भरी तेरी आंखें, मजबूर करे जीने के लिए, जीने के लिए’। इस गाने को भी राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर पर फिल्माया गया जिसका संगीत कल्याणजीआनंदजी ने दिया।

 

  1. ज़िंदगी एक सफ़र है सुहाना- अंदाज (1971)

किशोर कुमार की विशिष्ट शैली में गाया हुआ गाना, जिसमें वो Yodelling करते नजर आते हैं । गाने का संगीत शंकरजयकिशन का था और हसरत जयपुरी की पंक्तियाँ ‘यहाँ कल क्या हो किसने जाना’ जीवन की अनिश्चिताओं को बताता है। गाना राजेश खन्ना और हेमा मालिनी पर फिल्माया गया।

 

5. ये जीवन है- पिया का घर (1972)

आनंद बख्शी का लिखा यह सुंदर गाना ‘थोड़े ग़म हैं, थोड़ी खुशियाँ, यही है छाँव धूप’, को अनिल धावन और जया भादुरी पर  फिल्माया गया।  गाने का संगीत लक्ष्मीकांतप्यारेलाल का था। हालांकि फिल्म नहीं चली पर गाना बहुत बड़ा हिट रहा। 

 

6. ज़िंदगी के सफ़र में आपकी कसम (1972)

आनंद बख्शी के लिखे इस शानदार गीत की पंक्तियाँ कुछ इस तरह हैं, ‘ज़िंदगी के सफ़र में गुज़र जाते है जो मकाम, वो फिर नहीं आते, वो फिर नहीं आते’, जिसमें संगीत राहुल देव बर्मन का है और गाने को राजेश खन्ना और मुमताज पर फिल्माया गया, जिसके Flashback में संजीव कुमार नजर आते हैं। 

 

7. मेरा जीवन कोरा काग़ज़- कोरा काग़ज़ (1974)

जया भादुरी पर फिल्माया गया यह एक प्रतीकात्मक गीत है, जिसे किशोर कुमार कुछ ऐसा गाते हैं, ‘मेरा जीवन कोरा काग़ज कोरा ही रह गया’।  गाने का संगीत कल्याणजीआनंदजी का हैगाने के बोल  एम.जे.हसमत  के हैं, जिन्हें बहुत कम लोग जानते हैं। ये गाना अक्सर श्रद्धांजलि समारोह में गया जाता है।

 

8. तेरे बिना ज़िंदगी से कोई आँधी (1975)

गुलजार की लिखी और राहुल देव बर्मन के संगीत से सजी फिल्मआँधीके सारे गाने बहुत लोकप्रिय हुए। यह गाना एक युगल गीत था, जिसे किशोर कुमार और लता मंगेशकर ने गया। यह गाना एक  बंगाली गाना, ‘जेठे जेठे पोठे होलो देरी’ पर आधारित था जिसे आर.डी.बर्मन  ने स्वयं गाया। फिल्म के मुख्य कलाकार संजीव कुमार और सुचित्रा सेन थे।

 

9. जीवन के हर मोड़ पे झूठा कहीं का (1979)

  आर.डी.बर्मन के संगीत से सजे इस गाने का बंगाली संस्करण  ‘शोनो मोन बोली तोमाय’ उन्होंने स्वयं गया। इस गाने  के हिंदी संस्करण को किशोर कुमार और आशा भोंसले ने गाया, बोल गुलशन बावरा के थे। गाने को ऋषि कपूर, नीतू सिंह और राकेश रौशन पर फिल्माया गया।

 

10 जीवन के दिन छोटे सही बड़े दिलवाले (1983)

ऋषि कपूर और टीना मुनीम पर फिल्माए इस गाने में संगीत आर.डी.बर्मन और बोल मजरुह सुल्तानपुरी के थे। गाने की पंक्तियाँ कुछ इस तरह हैं, ‘जीवन के दिन छोटे सही, हम भी बड़े दिलवाले’। गाने का एक दूसरा संस्करण भी था जिसे  लता मंगेशकर और उदित नारायण ने गाया।