5 उपयोगी जड़ी-बूटियाँ जिन्हें आप घर पर उगा सकते हैं और उपयोग कर सकते हैं – भाग 4 5 फरवरी, 2021 – दीपा डीसा द्वारा

जड़ी बूटी छोटी होती है लेकिन ताक़त से भरपूर होती है, हर खाने के पीछे शक्ति से भरपूर । न केवल वे स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती हैं, बल्कि घर पर असंख्या प्रकार से उपयोग की जाती हैं।

 पुदीना रमणीय (आनंदपूर्ण) है! यह ताज़ा और साफ़ करने वाला होता है और इसका तेल आपको कुछ ही सेकंड में मज़बूत बना देता है। पुदीने को प्यार ना करने के लिए क्या नहीं है ?

पुदीना  

                             पुदीना – मेंथा प्लांट परिवार के लिए एक सामान्य शब्द है। पुदीना, नारंगी पुदीना, सेब पुदीना,पहाड़ी पुदीना ,लगभग 15 और किस्में पुदीना परिवार की हैं।

                            स्पीयरमिंट (मेंथा स्पाइकाटा) और पेपरमिंट (मेंथा पिपेरिटा) – पुदीने की अन्य दो सामान्य किस्में हैं। स्पीयरमिंट मीठा होता है, और पेपरमिंट (एक प्रकार का पुदीना) कसैला और तीव्र है।

                                     यहां एक दिलचस्प तथ्य है: कहा जाता है कि एक दिन में दो कप स्पीयरमिंट(पहाड़ी पुदीना) टिस्नेज़(पुष्टिकर जोशांदा) महिलाओं में हिर्सुटिज़्म(अत्यधिक बाल उगना) को कम करने में मदद करता है । (हिर्सुटिज़्म से चेहरे, स्तनों और पेट पर बाल उगते हैं)। “पुरुष” एण्ड्रोजन हार्मोन के अत्यधिक उच्च स्तर के कारण बाल बढ़ते हैं।

                   पेपरमिंट या मेंथा पिपरेटा वैश्विक व्यंजनों में व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली सबसे पुरानी जड़ी-बूटियों में से एक है और यह अपने असंख्य चिकित्सीय गुणों और उपयोगों के लिए अत्यधिक बेशकीमती है।

                  पुदीना का ताजा और अनोखा स्वाद जेनेरिक मेंथा प्लांट से है और इसकी पत्तियाँ उन व्यंजनों में एक अलग स्वाद और सुगंध प्रदान करती हैं, जिनका उपयोग चटनी, रायता और ताज़ा पेय के लिए किया जाता है।

उपयोग और लाभ

  • पुदीना उच्च पौष्टिक मूल्य और विटामिन, फाइबर, आयरन, फोलेट और मैंगनीज से भरपूर होता है। यह नियमित आहार में एक
    Peppermint isolated on white background,side view.

    अच्छा संयोजन है ।

  • पुदीने के पत्तों को भी मुंह के फ्रेशनर के रूप में मूल्यवान माना जाता है क्योंकि यह अपने अद्भुत उपचार गुणों के लिए प्राचीन काल से चला आ रहा है।
  • पुदीना आपकी लगभग सभी पाचन समस्याओं के लिए चमत्कार का काम कर सकता है।
  • पुदीने का सेवन दमा के रोगियों को राहत पहुँचाने  में मदद करता है । पुदीना एंटी-इंफ्लेमेटरी(सूजनरोधी) गुणों से भरपूर होता है। यह हर किसी को उत्तम आराम पहुँचाता है और रक्त-संकुलन से राहत देता है। सुनिश्चित करें कि आप अपने पुदीने की खुराक को अधिक मात्रा में ना लें अन्यथा यह आपके वायु मार्ग को परेशान कर सकता है।
  • आपको जबरदस्त जुकाम हैं, आपको सांस लेने में तकलीफ़ हो रही हैं और आपका ध्यान भी नहीं लग रहा है तो आप पुदीने का उपयोग कर सकते है । हाँ , इसमें एक कारण है कि, जो आपके इनहेलर्स और वैपर-रब हैं उसमें पुदीने का उपयोग किया जाता हैं । पुदीना- नाक, गले, श्वासनलियाँ और फेफड़ों के जमाव को साफ करने के लिए जाना जाता है। श्वसन चैनलों के अलावा, पुदीना के सूजनरोधी गुण भी पुरानी खांसी के कारण होने वाली जलन से राहत देते हैं।
  • पुदीने की जबरदस्त और ताज़ा खुशबू, सिरदर्द और माइग्रेन को कम करने में मदद करती है। अरोमाथेरेपी में, पुदीना आधार या मूल पेपरमिंट तेल के साथ बाम और तेल, जब माथे और पेट पर रगड़े जाते हैं, तो सिरदर्द और मतली को ठीक करने में प्रभावी होते हैं। सावधानी: पुदीना का तेल शक्तिशाली होता है यह त्वचा, आंखों और नाक को जला सकता है।
  • मुख में पुदीने वाली चीज़ों को चबाने से जैसे कि फ्रेशनर्स, चूइंग गम याँ पुदीने की पत्तियाँ चबाने से मुख में ताज़गी का अहसास होता है, क्योंकि इसमें कीटाणुनाशक गुण उपस्थित है ।
  • यह हमारे समग्र मौखिक स्वास्थ्य के लिए भी चमत्कार करता है। यह मुंह के अंदर बैक्टीरिया के विकास को रोकता है और दांतों पर फलक जमाव को साफ करता है। यही कारण है कि बाजार में इतने सारे टूथपेस्ट और च्यूइंग गम भी मिंट बेस(पुदीना आधार) में आते हैं।
  • वजन घटाने में पुदीना भी अपनी मधुर भूमिका निभा सकता है, और इसका कारण इसके बहुत सारे पाचक गुणों से जुड़ा हुआ है। पुदीना पाचन एंजाइमों को उत्तेजित करता है, जो भोजन से पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण की सुविधा में मदद करता है। जब शरीर पोषक तत्वों को ठीक से आत्मसात और अवशोषित करने में सक्षम होता है, तो बेहतर मेटबॉलिज़म बन जाता है। तेज मेटबॉलिज़म वजन घटाने में मदद करता है।
  • पुदीना अपने कार्मिनिटिव(अग्निवर्धक) गुणों के कारण भोजन को पचाने और भोजन को आत्मसात करने में मदद करता है और पेट के दर्द का प्रमुख इलाज है। पुदीना की पत्तियों का अर्क आंतों के कीड़े के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है।
  • आयुर्वेद में इस सुगंधित जड़ी-बूटी को एक प्राकृतिक शीतलक के रूप में माना जाता है, जिसमें मीठा और तीखा स्वाद होता है। पुदीना तीनों दोषों को शांत करने का गुण रखता है  और मुख्य रूप से पित्त दोष का निधान करता है।

इसे कैसे उगाया जाए

                          यद्यपि नर्सरी से पुदीने का पौधा खरीदना हमेशा बेहतर होता है, आप इसे कटिंग से भी उगा सकते हैं। आपको बस 5-8 कटिंग लेनी हैं जो परिपक्व पुदीने के पौधे से 5-6 इंच लंबी हैं।

               गांठ के ठीक नीचे इन तनों को काटें और निचले सिरे पर स्थित सभी पत्तियों को हटा दें। अब आपकी कटिंग लगाने के लिए तैयार हैं! उन्हें सीधे बर्तन में डालें और अच्छी तरह से पानी दें।

                                 पुदीना लगभग सभी प्रकार की मिट्टी में अच्छी तरह से विकसित हो सकता है। मिट्टी को उपजाऊ, अच्छी तरह से जल निकासी, और कार्बनिक पदार्थों से समृद्ध होना चाहिए। बरतन में इसे उगाने के लिए कमर्शियल पॉटिंग मिक्स(वाणिज्यिक बर्तन मिश्रण) सबसे अच्छा विकल्प है। आप बगीचे की मिट्टी, महीन रेत, गोबर की खाद, और कोको पीट(पीट कोयला) के बराबर भागों को मिलाकर अपने गमले की मिट्टी तैयार कर सकते हैं।

                               इन पौधों को अच्छी तरह से विकसित होने के लिए बहुत अधिक पानी की आवश्यकता होती है। अपने गमले में मिट्टी लगातार नम रखें लेकिन गीली नहीं। निरंतर नमी आपके पौधे के विकास में मदद करेगी, जबकि आपके पौधे को अधिक पानी देने से पत्ते कड़वे हो सकते हैं। पौधों को तभी पानी दें जब ऊपर की मिट्टी सूख जाए।

                 पुदीने के पौधे, को हल्की छाया की ज़रूरत होती है, यदि आप इसे अक्सर पानी देते है , तो आप इसे पूर्ण सूर्य में उगा सकते हैं।

                              मुझे लगता है कि हम अपने जीवन में पुदीने के लिए बहुत भाग्यशाली हैं; यह रसोई घर से आपके बाथरूम तकमदद करने में शामिल होता है । लेकिन अगर आपके पास पालतू जानवर हैं, तो याद रखें पुदीना सभी पालतू जानवरों के लिए विषाक्त है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप पुदीने को पालतू जानवरों, की पहुँच से दूर रखें । 

                         इसके अतिरिक्त, यदि आप कोई दवाई ले रहें है याँ किसी स्थिति में जब आपकी तबीयत ठीक नहीं है, तो उपाय के रूप में पुदीने का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना सबसे अच्छा विचार  है। यह एक मजबूत जड़ी बूटी और तेल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *